एलर्जी (Allergy in Hindi)


एलर्जी तब होती है जब शरीर किसी पदार्थ के प्रति प्रतिक्रिया करता है। यह मामूली सी कठिन समस्या हो सकती है। एलर्जी के विभिन्न प्रकार होते हैं। सबसे आम एलर्जियाँ इन चीज़ों से होती हैंः

 

  1. हवा में मौजूद चीज़ें जैसे फूलों का पराग, मिट्टी, पालतू पशुओं की रूसी या धूल
  2. वे चीज़ें जिन्हें आप छूते हैं जैसे धातु, वनस्पतिक दूध या रसायन 
  3. आप जो कुछ खाते या पीते हैं जैसे अंडे, मूंगफली, मेवा, दूध, सोया, गेहूँ या शंख मीन 
  4. कीड़ों के डंक, जैसे बर्र, मधुमक्खी, ततैया, भिड़ या चींटे के डंक 
  5. दवाएं  

एलर्जी से छुटकारा नहीं मिल सकताए लेकिन इलाज की मदद से आप बेहतर महसूस करेंगे। साथ ही उन चीजों से बचें जिनसे आपको नुकसान पहुंचता है।

 

एलर्जी के लक्षण -

एलर्जी के सबसे सामान्य लक्षण हैं त्वचा पर दाने या फुंसियाँ और गले में घरघराहट या साँस लेने में कठिनाई। अगर आपको साँस लेने में कठिनाई हो, तो 911 पर फोन करें। अन्य लक्षण एलर्जी के कारण पर निर्भर करते हैं और इनमें ये शामिल हो सकते हैंः 

  1. नाक में खुजली, बहती या बंद नाक 
  2. साइनस पर दबाव 
  3. छींकना 
  4. आँखों में खुजली, लाली, सूजन, जलन या पानी बहना 
  5. गले में खुजली या खाँसी 
  6. स्वाद या गंध में कमी 
  7. सिरदर्द 
  8. मितली या उल्टी 
  9. पेट में दर्द या मरोड़ 
  10. दस्त लगना 
  11. मुँह के आसपास सूजन या निगलने में कठिनाई

 

आपकी देखभाल -

आपका डॉक्टर आपसे आपके लक्षणों के बारे में पूछेगा। एलर्जी का पता लगाने के लिए त्वचा या रक्त की जाँच की जा सकती है। आपका डॉक्टर आपके लक्षणों के इलाज के लिए नुस्खे या बिना नुस्खे के मिलने वाली दवाइयां दे सकता है।

 

अपने डॉक्टर को बुलाएँ यदि आपको -

  1. लक्षण जो बदतर होते जाएँ या आपकी सामान्य गतिविधियों में बाधक बनें 
  2. 101 डिग्री फारेनहाइट या 38 डिग्री सेंटीग्रेड से ज़्यादा बुखार हो

 

यदि आपको कोई प्रश्न या चिंताएँ हों तो अपने डॉक्टर या नर्स से बात करें।

 

नोट - इस लेख पर सभी जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। बीमारी की जाँच और इलाज के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लें। 


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख