बाप-बेटे के रिश्ते को कैसे करें मज़बूत? (Baap bete ke rishte ko kaise karein majboot?)


प्रश्न: बाप-बेटे के रिश्ते में किस किस तरह के बदलाव आ रहे हैं?

उत्तर: पिता ही एक अकेला ऐसा शख्स होता है, जो अपनी संतान को इस मुश्किल भरी दुनियां चलाते हुऐ एक दिन उसे अपने पैरों पर खड़ा कर देता है। भारत देश में पहले ऐसी संतानें होती है, जो अपने पिता के कहने पर खुद की बली दे देते थे। यहां तक कि पितृभक्त कहे जाने वाले भगवान परशुराम ने अपने पिता के कहने पर अपनी मां की ही बली दे दी थी। ये सब तो बातें समय के साथ पुरानी हो गई हैं, क्योंकि आजकल की नई पीढ़ी में देखा गया है कि एक बेटा अपने पिता की इतनी इज्जत नहीं करता है। यहां तक कि कुछ अमीर खानदानी तो अपने पापा को एक एटीएम मशीन समझते हैं।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख