बड़े नाखूनों से गंभीर बीमारियां बढ़ती हैं (Bade nakhuno se gambhir bimariya badhti hain)


कई महिलाओं को बड़े नाखून रखना बहुत पसंद होता है। हालांकि इन्हें साफ-सुथरा और अच्छी तरह से तराशकर रखना भी जरूरी होता है। आपको बता दें कि नाखून केराटिन नामक एक कठोर प्रोटीन से बने होते हैं। ये पैर और हाथ की उंगलियों के संवेदनशील पोर की सुरक्षा करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि लोग आपको समय-समय पर नाखून को काटते रहने के लिए क्यों कहते हैं?

दरअसल लंबे और गंदे नाखून संभावित रूप से संक्रमण जैसे कि पिनवर्म्स पैदा कर सकते हैं। लंबे और गंदे नाखून में अधिक गंदगी और घातक बैक्टीरिया होते हैंजिसके परिणामस्वरूप गंभीर संक्रमण हो सकता है। वहीं नाखून में पाए जाने वाले बैक्टीरिया दस्त और उल्टी का कारण बनते हैं। ये बच्चों में तो बहुत ही आम है।

नाखून गंदे हैंतो रोगाणु आसानी से उनके शरीर में जा सकते हैं और संक्रमण हो सकता है। इसलिए बच्चों के नाखूनों को समय-समय पर काटते रहना चाहिए। वहीं बच्चे कई बार खुजली से राहत देने के लिए खुद को नाखून से खरोंचकर चोट पहुंचा लेते हैं।

बच्चे अक्सर अपनी नाक को खरोंचते हैं और यदि उनके नाखून बड़े हैंतो उनके नाक में चोट भी लग सकती है और खून भी निकल सकता है।

बच्चों की त्वचा बहुत ही नाजुक और संवेदनशील होती है। ऐसे में अगर मां के नाखून लंबे हैंतो उससे बच्चे को चोट लग सकती है। बच्चों के साथ-साथ उनकी देखभाल करने वाली मां को भी विशेष रूप से अपने नाखूनों की स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए।

मां आमतौर पर घर की रसोई को संभालती हैं और बच्चों के गंदे नैपी को धोती या बदलती भी हैं। इससे आसानी से नाखून के नीचे सभी तरह के कीटाणुओं को आश्रय मिल सकता है।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए नाखून को साफ और ठीक से काटकर रखना जरूरी है। नाखूनों की स्वच्छता बनाए रखने के लिए साबुन से केवल हाथ धोना सही तरीका नहीं है। किसी भी फंगल संक्रमण से बचने के लिए हाथों को नाखूनों सहित साफ करना आवश्यक है।

अगर देखा जाए तो बड़े नाखून रखना ही सही नहीं है। ये कई तरह के रोगों को बढ़ावा देता है।

आपको बता दें कि गर्भावस्था के दौरानहॉर्मोन और मल्टीविटामिन के सेवन के साथनाखून सामान्य से अधिक तेज गति से बढ़ते हैं लेकिन वह पतले और नाजुक हो सकते हैं जिसके परिणामस्वरूप नाखून किसी भी चीज में फंस सकते हैं।

यदि ये गंदे होंतो संक्रमण हो सकता हैजो मां और भ्रूण के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख