बॉयफ्रेंड के गुस्सा होने पर गर्लफ्रेंड क्या करती हैं (Boyfriend ke gussa hone par girlfriend kya karti hain)


ब्वॉयफ्रेंड अगर अपनी गर्लफ्रेंड को चार बात सुना दे तो गर्लफ्रेंड की आंखों से आंसू  निकलने लगते हैं। हालांकि बाद में ब्वॉयफ्रेंड को खून के आंसू रोने पड़ते हैं। फिर शुरू होता है लड़कियों का इमोशनल अत्याचार, ताने देना और रोने-धोने की सिलसिला। आइए आपको बताते हैं लड़कियां लड़कों पर कैसे-कैसे अत्याचार करती हैं।

 

1. लड़कियां जब भी अपने ब्वॉयफ्रेंड से झगड़ती हैं तो उन्हें अपने एक्स ब्वॉयफ्रेंड की याद सताती है। या तो वह आपको अपने एक्स के ताने मारती रहेंगी या फिर अपने एक्स से आपकी बुराई करती नज़र आएंगी।

 

2. लड़कियों के लिए रोना किसी रामबाण से कम नहीं है। उन्हें जब लगता है कि मामला हाथ ले निकल रहा है तो वह रोना शुरू कर देती हैं। मजाक बनाने पर रोना, लड़ते वक्त रोना, सोते वक्त रोना। इतना रोना कि ब्वॉयफ्रेंड की जुबान पर ताला लग जाए।

 

3. फोन लड़कों की जिंदगी की सबसे बड़ी समस्या है। अगर गर्लफ्रेंड का फोन गलती से मिस हो जाए तो सवालों की बौछार शुरू हो जाती है। हर थोड़ी देर में ये पूछना कि कहां हो या क्या कर रहे हो एक अत्याचार के समान ही है।

 

4. अगर ब्वॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड से थोड़ी तेज आवाज में बात कर लेता है तो वह मुजरिम बन जाता है। जबकि गर्लफ्रेंड अपने ब्वॉयफ्रेंड से सरेआम ऐसे बर्ताव करती है जैसे वह उसकी संपत्ति हो। कई लड़कियां तो हाथ उठाने से भी परहेज नहीं करतीं।

 

5. ऐसा कहा जाता है कि अक्सर कई लड़कियां लड़को का इस्तेमाल सिर्फ इसलिए करती हैं ताकि वो उनके खर्च उठा सके। हालांकि ये सिर्फ आकलन हो सकता है, बाकी की बात लड़के ही जान सकते हैं।

 

6. कुछ लड़कियां अपने ब्वॉयफ्रेंड की आलोचना करने का कोई भी मौका नहीं छोड़तीं। उनका मजाक उड़ाना, नीचा दिखाना और खुद की तारीफ करने वाली ऐसी लड़की से दूर रहने में ही भलाई है।

 

7. कभी कभी लड़कियां एक साथ दो दो ब्वॉयफ्रेंड भी रखती हैं। ये अपने आप को ऐसा दिखाती हैं जैसे दुनिया से पूरी तरह अंजान हों। हालांकि ऐसा लड़को के साथ भी होता है।

 

8. कुछ लड़कियां पहले लड़कों को इंटीमेसी के लिए ललचाती हैं और फिर ऐन मौकों पर उसे टालती हैं। किसी के लिए भी ये एक अत्याचार से कम नहीं है।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख