जल्दी से सेरेलक के नुकसान जान लें (Jaldi se cerelac ke nuksan jaan le)


सेरेलेक बच्चों के लिए आहार की तरह होता है। लोग अपने बच्चों को 6 महीने के बाद ही सेरेलेक खिलाना शुरू कर देते हैं। बच्चा जब 6 महीने का होता है तो उसे ठोस आहार देना जरूरी होता है। ऐसे में ठोस आहार की शुरुआत सेरेलेक से ही होती है।

लेकिन कुछ मां का कहना है कि सेरेलेक से उनके बच्चे को कब्ज की समस्या होने लगती है। अगर आपके बच्चे के साथ भी ऐसा ही है तो इस लेख में हम आपको बताते हैं कि आखिर सेरेलेक देने से बच्चों को कैसी समस्याएं (Side Effects of Cerelac in Hindi) हो सकती हैं।

सेरेलक से होता है कब्ज - Cerelac se hota hai kabj

आमतौर पर कई माओं का कहना है कि सेरेलक से उनके बच्चों को कब्ज की समस्या हो जाती है। लेकिन असल में तो बात ये है कि आप अपने बच्चे को 6 महीने तक अपना दूध पिलाती हैं और फिर ठोस पदार्थ के रूप में सेरेलक खिलाना शुरू कर देती हैं, जिसकी वजह से वो शुरुआत में उसे पचा नहीं पाता। ऐसी समस्या कई बच्चों में देखने को मिलती है।

सेरेलक से आती है शौच से गंध आना - Cerelac se aati hai shoch se gandh aana

जब मां बच्चे को सेरेलक देना शुरू करती है तो बच्चों की शौच में शुरुआत में बदबू आने लगती है। यह बात काफी आम है और इसे लेकर आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। जब भी बच्चा कोई नया आहार खाता है तो उसकी पाचन क्रिया उसे पचाने की कोशिश करती है और यह गंध उसी की होती है।

सेरेलक से आती है एलर्जी - Cerelac se aati hai allergy

कई बार ऐसा होता है कि सेरेलक से बच्चों को एलर्जी होता है। लेकिन ये एलर्जी का कारण सेरेलक में मौजूद केमिकल है। अगर सेरेलक देने के बाद बच्चा पेट दर्द से रोटा है तो उसे न दें। अगर सेरेलक के बाद बच्चे की त्वचा पर रैशेज हो जाते हैं तो कोशिश करें की उसे सेरेलक की बजाए अन्य ठोस पदार्थ दें।

सेरेलक से होता है पेट दर्द - Cerelac se hota hai pet dard

सेरेलक खिलाने के शुरूआती वक्त में बच्चों को पेट दर्द होता है। अगर आपके बच्चे के साथ भी ऐसा होता है तो सेरेलक बच्चे को गाढ़ा न दें थोड़ा पतला-पतला दें। अगर तब भी बच्चे के पेट दर्द होता है तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं। 

नोट - बच्चे को वैसा ही सेरेलक बनाकर दें जैसा उत्पाद पर लिखा हुआ है। बच्चे को फाइबर वाली चीजें दें जिससे उसके पेट में कब्ज न बने। आप उसे सेरेलक में डालकर ह्री सब्जियां फल फ्रूट डालकर दे सकते हैं। बच्चे को जब सेरेलक बनाकर दें तो हमेशा चम्मच से देख लें या फिर सेरेलक को छानकर भी दे सकते हैं जिससे कि उसमें गांठ न बने।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख