जानें क्यों कम किए विदुषी ने फटाफट 31 किलो (Jane kyon kam kiye vidushi ne fatafat 31 kilo)


अत्यधिक वजन की वजह से सिर्फ खाने पीने को लेकर परेशानियों का सामना करना पड़ता है बल्कि मोटापे की वजह से आप अपने पसंदीदा कपड़े भी नहीं पहना पाते। कुछ ऐसा ही विदुषी के साथ भी था। वो अपने पसंदीदा कपड़े पहनना तो छोड़ों उनके मौजूद कपड़े भी उन्हें टाइट आते थे। इसकी वजह से उन्हें कई बीमारियां भी घेरने लगी थी। चलिए इस लेख में आपको बताते हैं विदुषी ने कैसा कम किये 31 किलो।

अपने वजन कम करने का निर्णेय कब लिया?

मुझे फैशनेबल कपड़े पहनना बहुत पसंद है। लेकिन अपने अत्यधिक वजन की वजह से मैं अपने पसंदीदा कपडे पहन ही नहीं पाती थी। एक दूकान पर तो दुकानदार ने बोल ही दिया कि "मैडम इस साइज के कपड़े मिलना बेहद मुश्किल है।" ऐसे सब जवाब सुनकर मैं परेशान हो गयी थी ऊपर से मोटापे की वजह से बीमारियां मुझे अंदर से खा रही थी। आखिर में मैंने फैसला कर ही लिया कि अब मुझे अपना वजन कम करना ही है।

आपका खानपान क्या था?

नाश्ता - मेरे नाश्ते में अंडे, फल, पीनट बटर और ओट्स होते थे।

लंच - लंच में मैं ब्राउन राइस, अंकुरित अनाज, उबले चने और राजमा खाती थी।

डिनर - उबला चिकन, टोफू, सलाद और एक कटोरी भरकर दाल।

चीट डेस - जिस दिन में मैं डाइटिंग नहीं करती थी उसदिन मैं तंदूरी चिकन और अंडे की जर्दी से बने आहार खाया करती थी।

आपकी एक्सरसाइज क्या थी?

मांसपेशियों को टोन और मजबूत करने के लिए कार्डियो, पुशअप किया करती थी। साथ ही जांघ की चर्बी कम करने के लिए स्क्वाट एक्सरसाइज करती थी। मेरा रोजाना वर्कआउट में डंबल्स, जम्पिंग, बैटल रूप जैसे व्यायाम शामिल होते थे।

कैसे आप हमेशा प्रेरित रही?

रोजाना खुद को आगे बढ़ता हुआ देखकर बेहद प्रेरित होती थी। साथ ही अपने पहले की फोटो को देखकर और अभी की फोटो को देखकर मैं यहीं सोचती हूं कि सच में मैं पहले बेहद मोटी थी। वजन कम होने के बाद मैं अपने पसंदीदा कपड़े भी पहनने लगी थी।

आपने ये कैसे सोचा कि आपको कभी अपने लक्ष्य से भटकना नहीं है?

फिटनेस अब मेरे जीवन का एक जरूरी हिस्सा बन चुका है। मैं रोजाना 6 बजे उठकर व्यायाम करती हूं, व्यायाम के बिना अब मेरा जीवन अधूरा है। साथ ही मैं अपनी पर्सनालिटी को लेकर काफी ज्यादा कॉन्फिडेंट रहने लगी हूं।

जब अधिक वजन था तो ऐसा कौन सा हिस्सा था जो आपके लिए कठिन था?

सबसे मुश्किल भरा हिस्सा मेरे लिए मेरा वजन था। साथ ही अधिक वजन होने का दुःख तब होता है जब लोग आपको टोकने लगते हैं और बोलने लगते हैं कि "अपने वजन का कुछ करो" मेरे स्कूल के बच्चे मुझसे बात नहीं करते थे और ये चीज मेरे लिए बेहद दुखद होता था।

आप खुद को कुछ सालों में किस तरह देखना चाहती हैं?

अभी मेरा वजन थोड़ा ही कम हुआ है, अभी मुझे अपना वजन 51 किलो घटाना है। इसके बाद मैं अपना वजन इसी तरह नियंत्रित रखना चाहती हूं।

जीवनशैली में बदलाव लाने के लिए आप क्या करती थी?

वजन कम करने के लिए मेरी जीवनशैली कई बड़े बदलाव आये। चीट डेस को छोड़कर अन्य दिनों में मेरा भोजन एकदम स्वस्थ होता था। साथ ही वर्कआउट मेरे लिए पहली प्राथमिकता थी।

आपके लिए सबसे दुखद बात कब थी?

सबसे ज्यादा निराश मैं तब हुई जब मैं हर संभव चीज कर रही थी लेकिन फिर भी मेरा वजन दो महीने से कम नहीं हो रहा था।

वजन घटने के बाद इससे क्या सीखा?

वजन कम करने के दौरान मैंने कई बातें सीखी लेकिन एक जरूरी बात ये सीखी कि किसी भी चीज के लिए समर्पण बेहद जरूरी है।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख