कामकाजी महिलाओं को होने लगती हैं ये बीमारियां
पर्सनालिटी (PERSONALITY)

कामकाजी महिलाओं को होने लगती हैं ये बीमारियां

Kaamkaji mahilao ko hone lagti hain ye bimariyan

Women Raftaar

लगातार बदलती और भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अपनी सेहत का बुरक हाल कर लेते हैं। ऐसी व्यस्त जीवनशैली के कारण हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ये समस्या खासकर कामकाजी महिलाओं के जीवन में देखने को मिलती है। वो अपने ऑफिस के काम के अलावा घर के काम को भी संभालती हैं जिसकी वजह से उन्हें स्वास्थ्य से जुडी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

समय रहते इन बीमारियों पर ध्यान दे देना चाहिए वरना बहुत बड़ी परेशानी खड़ी हो सकती है। जानिए वो कौन सी बीमारियां हैं जो कामकाजी महिलाओं (Working Women) को हो सकती हैं। चलिए आपको बताते हैं –

डिप्रेशन : कामकाजी महिलाओं में डिप्रेशन की समस्या काफी बढ़ती जा रही है। इसके सिर्फ दो मुख्य कारण हैं घर से ऑफिस - ऑफिस से घर और फिर वहां की जिम्मेदारियां। इसकी वजह से महिलाओं को अत्यधिक तनाव होने लगा है। महिलायें तनाव की वजह से सही ढंग से दो भी नहीं पाती हैं।

आपको रोजाना क्या करना है पहले पर्याप्त नींद लें और जितना भी काम हो उसे शांति से करें। इसके अलावा मेडिटेशन से अच्छा और कोई विकल्प नहीं, साथ ही शराब या धूम्रपान का सेवन न करें।

मोटापा : अक्सर कामकाजी महिलाओं को जब भूख लगती है तो या तो वो पूरे दिन भूखे रहकर काम करती रहती हैं या फिर बाहर का जंक फूड खाकर अपना पेट भर लेती हैं। बाहर के खाने में आपको पौष्टिक चीजें सिर्फ नाम की मिलेंगी और कैलोरी अधिक मात्रा में पायी जाती है, इस कारणवश आप मोटापे के शिकार हो जाते हैं। ऑफिस में भी बैठे रहने से मोटापा बढ़ता है।

इसके लिए आपको क्या करना है बाहर के खाने से परहेज करना है। आहार लेते समय ध्यान रखें उसमें वसा की मात्रा बेहद कम हो, साथ ही कार्बोहाइड्रेट भी कम मात्रा में लें। रोजाना हरी सब्जियां खाएं, इससे आप पूरे दिन फ्रेश महसूस करेंगी और वजन भी नियंत्रित रहेगा।

ब्लड प्रेशर : ऑफिस में शारीरिक मेहनत कम लगती है और इस वजह से मोटापा बढ़ता रहता हैं। मेहनत न लगने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होने लगती है और यही कारण है जब ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है। ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए धूम्रपान या शराब का सेवन न करें वरना ये समस्या और बढ़ सकती है।

ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने के लिए रोजाना पौष्टिक आहार खाएं और रोजाना 1 घंटे के लिए मॉर्निंग वॉक पर जरूर जाएं। इसके अलावा आप आधा घंटा कोई हल्का व्यायाम भी कर सकते हैं। 

डायबिटीज : वजन बढ़ने की वजह से और आहार में प्रोटीन व फाइबर की कमी, साथ ही फैटी फूड की अधिकता से शरीर में ग्लूकोज का स्तर बढ़ता हैं, जिससे डायबिटीज की समस्या सामने आने लगती है। इससे बचने के लिए आपको अपने शुगर के स्तर पर नजर रखनी चाहिए। नियमित रूप से जांच करवाते रहें और अपने वजन पर नियंत्रित रखें।