ये टिप्स बताएंगे कैसा हो बॉस और स्टाफ के बीच संबंध (Ye tips bataenge kaisa ho boss aur staff ke beech sambandh)


बॉस और स्टाफ का संबंध एक गुरु-शिष्य की तरह होता है। इस रिश्ते में औपचारिकता कम लेकिन आपसी समझ अधिक होनी चाहिए। दोनों को एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए। हम अपने दोस्त और ऑफिस तो बदल सकते हैं लेकिन अपना बॉस चुनने की आजादी हमें नहीं होती है। इसलिए बॉस चाहे खड़ूस हो या जेन्टलमैन स्टाफ को उससे बेहतर संबंध बनाना ही पड़ता है। हालांकि ताली कभी एक हाथ से नहीं बजती।



बॉस और स्टाफ दोनों को प्रयास करना चाहिए कि वो अपने संबंधों को खराब न करें और आपस में मिल-जुलकर काम करें। ऑफिस के काम को लेकर आपस में तनाव हो सकता है, लेकिन कभी भी मन-मुटाव नहीं रखना चाहिए। 

1. बॉस बनें ऑफिस का दादा नहीं -

हर बॉस हमेशा अपने कर्मचारियों से सम्मान पाने की अपेक्षा रखता है। बॉस के सामने तो उनके डर के कारण हर कोई उनका सम्मान करता है लेकिन बॉस के ऑफिस में न रहने पर उनकी बुराई भी करता है। यही कारण है कि बॉस और स्टाफ के बीच सही तालमेल नहीं बैठ पाता है। मेरे एक मित्र हैं जो गुड़गांव में सर्विस करते हैं, उनकी उनके बॉस से नहीं बनती क्योंकि उनका बॉस हमेशा अपनी पोस्ट का डर दिखाकर स्टाफ पर दादागिरी झाड़ता है। याद रखें यदि आप बॉस है तो आपको भी अपने स्टाफ को सम्मान देना सीखना होगा।

2. स्टाफ को कॉम्प्लीमेंट दें -

किसी भी कंपनी के बॉस में यह स्किल होना चाहिए कि वह स्टाफ से काम ले सके। बॉस की सफलता का राज उसके वह कर्मचारी होते हैं, जो अपना काम समय पर व ईमानदारी से करते हैं। यदि कोई कर्मचारी अच्छा काम करता है तो बॉस को भी चाहिए कि वो सबके सामने उसकी तारीफ करे व उसे कॉम्प्लीमेंट दें।

3. स्टाफ का अभिवादन करें -

जब भी आप ऑफिस में प्रवेश करें तो आपका मूड अच्छा होना चाहिए। कोई भी स्टाफ अगर आपको अभिवादन करता है तो उसका जवाब उसे हंस कर दें। इससे आपका स्टाफ भी खुश हो जाएगा। वहीं दूसरी ओर, बॉस का मुस्कुराता चेहरा कर्मचारियों के साथ-साथ ऑफिस के माहौल को भी सहज बनाता है।

4. कर्मचारियों पर करें विश्वास -

यदि कोई बॉस ऐसा सोचता है कि मैंने अपना काम अपने कर्मचारियों को सिखा दिया तो वह मुझसे आगे निकल जाएंगे तो उनकी यह सोच सरासर गलत है। बॉस तो ऐसा होना चाहिए, जो अपने कर्मचारियों के आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त करे न कि उनकी सफलता में अवरोध पैदा करे। बॉस और स्टाफ का रिश्ता दोस्ताना भी बन सकता है। अपने कर्मचारियों से अच्छे संबंध बनाकर बॉस जहां सबका चहेता बन सकता है, वहीं अपने स्टाफ का दिल जीतकर वो उनसे भरपूर काम भी ले सकता है।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख