पहली मुलाकात में कैसा हो आपका अच्छा व्यवहार
पर्सनालिटी (PERSONALITY)

पहली मुलाकात में कैसा हो आपका अच्छा व्यवहार

Pehli mulakat me kaisa ho aapka achha vyavahar

Women Raftaar

फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन अंग्रेजी की यह कहावत तो आपने सुनी ही होगी, लेकिन क्या कभी इसके महत्व को गंभीर होकर समझने की कोशिश की है। पहली मुलाकात का प्रभाव निश्चित तौर पर आपके बारे में एक राय बनाता है। इसका असर भविष्य में भी आपके रिश्तों में साफ झलकता है। इसलिए आपका फर्स्ट इंप्रेशन प्रभावशाली होना काफी जरूरी है।

संबंधित व्यक्ति से आपके रिश्ते कैसे होंगे, वह आपको कितना सम्मान देगा, उसके जीवन में आप कितना महत्व रखते हैं और भविष्य में आपके रिश्ते की डोर कितनी मजबूत होगी। इस तरह की कुछ बातों का अंदाजा आपको पहली बार में ही हो जाता है। इन सब बातों के बारे में पता होने के बावजूद ज्यादातर लोगों को पहली मुलाकात में लोगों को इंप्रेस करने का फॉर्मूला नहीं पता होता।

तो चलिए जानते हैं पहली मुलाकात में कैसा हो आपका अच्छा व्यवहार -

बातों से करें प्रभावित -

किसी भी व्यक्ति से पहली बार बातचीत करते हुए आपको हिचकिचाना नहीं चाहिए। उसकी आंखों में आंखें डालकर आपको सम्मानजक रूप से उससे बातें करनी चाहिए। फिर चाहे वह कोई बड़ा अधिकारी ही क्यों न हो। यदि आपको लग रहा है कि सामने वाला इंसान आपकी बातों से बोर हो रहा है, तो ध्यानपूर्वक उसकी बातों को सुनना चाहिए।

इस तरह मिलाएं हाथ -

किसी से पहली बार हाथ मिलाने का अपना एक सलीका और कायदा होता है। किसी से हाथ मिलाते वक्त आपको एक जेंटल पर्सन की तरह रिएक्ट करना चाहिए। आपके व्यवहार में वो शालीनता और होठों पर हल्की सी मुस्कान होनी चाहिए। इस वक्त भी आपका आई कॉन्टेक्ट टूटना नहीं चाहिए।

ओवरकॉन्फिडेंस न झलकने दें -

कई बार खुद पर अति आत्मविश्वास आपको ले डूबता है। इससे सामने वाला कई बार आपको घमंडी और अहंकारी समझने लगता है। इसलिए अपनी उपलब्धियां और शौक गिनाने की बजाए सामने वाले की बातों में ज्यादा दिलचस्पी लें। अपने बारे में जिक्र करते हुए आपके चेहरे की रूपरेखा में दूसरों के लिए सम्मान झलकना चाहिए।

सामने वाले की बातों का सम्मान करें -

शादी-विवाह के मामले में कई बार आप पहली मुलाकात में किसी को पसंद नहीं आते, लेकिन बाद में वही इंसान आपका जीवनसाथी के रूप में भविष्य में आपके साथ जुड़ता है। इसलिए पहली बार में सहज रहें, भले ही सामने वाले की बातों से आप सहमत न हों। फिर भी उनकी बातों का सम्मान रखें और अपने रिश्तों की बुनियाद को मजबूत बनाने की शुरुआत करें।