वर्किंग न होने की वजह से इन मजेदार तरीकों से करें तनाव दूर (Working na hone ki vajah se in majedaar tarikon se kare tanav door)


मां बनने का एहसास बेहद खास और खुशनुमा होता है, लेकिन साथ ही साथ इसमें बच्चे का लालन पालन करने की जिम्मेदारी भी बढ़ जाती है। ऐसे में एक सवाल ये आता है कि कामकाजी मां और बिना कामकाजी मां के बीच में क्या अंतर है। तो हम आपको बता दें इसमें कोई शक नहीं है की कामकाजी मां अपने कैरियर का आनंद उठाती है। लेकिन ये सिर्फ सुनने में ही आपको मजेदार लग सकता है पर ये इतना भी आसान नहीं है, खासकर तब जब आपका बच्चा छोटा हो।

साथ ही कई लोगों को लगता है बाहर काम न करने वाली माओं का जीवन सबसे आरामदायक होता है लेकिन ये गलत सोच है उनका भी जीवन किसी कामकाजी महिला से कम नहीं होता (Non working women)।

काम न करने वाली मां को सबसे ज्यादा तनाव का सामना करना पड़ता है क्योंकि उसे लगता है पढ़ीलिखी और काबिल होने के बाद भी वो घर में बैठी हैं। ये सब सोचकर बच्चे को भी संभालना बेहद मुश्किल हो जाता है। अगर आपको भी कुछ ऐसा ही महसूस होता है तो इस लेख की मदद से आप इस भावना को कम कर सकती हैं। चलिए आपको बताते हैं कैसे –

1. पहले से करें तैयारी - आमतौर पर सुबह को ज्यादा तनाव देखने को मिलता है, क्योंकि बच्चे को स्कूल के लिए तैयार करने के साथ-साथ पति के लिए भी लंच तैयार करना पड़ता है। ऐसे में उनका तनाव बढ़ना लाजमी है। तो सुबह-सुबह तनाव को कम करने के लिए पहले से ही बच्चे के यूनिफॉर्म, लंच ब्रेकफास्ट आदि की प्लानिंग कर लें। इससे आपका काम आसान होगा और सुबह-सुबह तनाव व भागमभाग भी नहीं होगी।

2. ब्रेक जरूर लें - एकदम से तनाव से निकलना बेहद मुश्किल है, लेकिन काम के बीच में ब्रेक लेकर आप इस तनाव को कम कर सकती हैं।

3. मेडिटेशन शुरू करें - तनाव को कम करना चाहते हैं तो मेडिटेशन से बेहतर विकल्प आपको कहीं नहीं मिल सकता है। सुबह-सुबह उठकर या बीच में ब्रेक के समय आराम से बैठकर गहरी सांस लें और ध्यान लगाएं। इससे मानसिक शांति मिलती है।

4. रोजाना एक्सरसाइज करें - ये तो आप सभी जानते हैं कि एक्सरसाइज से न केवल आप फिट रहते हैं बल्कि तनाव से भी दूर रहते हैं। तो रोजाना सुबह सैर के लिए निकलें, स्विमिंग, एरोबिक्स आदि एक्सरसाइज के लिए समय जरूर निकालें।

5. हंसने के लिए समय जरूर निकालें - जो लोग तनाव से ग्रस्त रहते हैं उनके चेहरे पर ऐसी चीजें आसानी से दिखाई देने लगती हैं। इसलिए तनाव को अपने चेहरे से भगाने के लिए हंसने, मुस्कुराने के मौके न छोड़ें। इससे तनाव से राहत मिलने पर आसानी होती है। जब बच्चे या पूरा परिवार घर पर तो उनके साथ समय निकालकर हंसने वाले बाते करें। 

6. सामाजिक संबंध बनाएं - अपने रोजाना के कामों से कुछ समय निकालकर बाहर लोगों से दोस्ती करें। इससे आपका तनाव दूर होता है और पोसिटिव एनर्जी मिलती है।


क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

हां नहीं  

सम्बंधित लेख