होली के दिन बालों और स्किन की देखभाल कैसे करें
होली के दिन बालों और स्किन की देखभाल कैसे करें
त्वचा (Skin Care Tips)

होली के दिन बालों और स्किन की देखभाल कैसे करें

Women Raftaar

रंग का त्यौहार हर किसी के लिए खुशी का समय लेकर आता है, हालांकि, रंग त्वचा और बालों के लिए हानिकारक हो सकता है। होली खेलते समय या उसके बाद किसी भी प्रकार की त्वचा या बालों से जुडी समस्या से बचने के लिए, कुछ एहतियाती उपाय करना बेहद जरूरी है। इस लेख में हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे आसान उपाय जिन्हे आप होली के दिन आसानी से आजमा सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं –

होली से पहले -

होली से पहले आने वाले हफ्ते में फेशियल, वैक्सिंग या थ्रेडिंग या लेजर ट्रीटमेंट से बचें। किसी भी त्वचा छीलने वाले ट्रीटमेंट से बचना चाहिए। हम सभी जानते हैं कि रंग, सूखे या फिर गीले, त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं और उनमें विषाक्त सामग्री के कारण त्वचा पर एलर्जी, चकत्ते, लालिमा की समस्या हो सकती हैं। रंग मौजूदा एलर्जी को और बड़ा सकते हैं। यहां तक कि रूसी और मुहांसों की परेशानी होली के बाद के दिनों में और भी बढ़ सकती है। अगर आपको स्किन से जुडी समस्याएं हैं जैसे रैश या मुहांसे, तो लक्षणों को नियंत्रित रखने के लिए अच्छा होगा आप अपने डर्मटोलॉजिस्ट को एक बार दिखा लें।

होली के दिन -

रंगों में सिंथेटिक डाई होती है जिसकी वजह से बाल रंगों के सम्पर्क में आने से बेजान, ड्राय हो सकते हैं। अपने बालों पर अच्छी मात्रा में तेल / कंडीशनर लगाएं। बालों में तेल लगाने के बाद बालों को बांध लें।

आप अपने बालों को दुपट्टे / बंदाना के साथ कवर कर सकते हैं जो न केवल सुरक्षा प्रदान करेगा बल्कि इससे आपके बालों को एक स्टाइल भी मिलेगा। अपने शरीर की त्वचा को रंग से बचाने के लिए, ऐसे कपड़े पहनें, जो शरीर के अधिकांश हिस्सों को कवर करते हों। रंगों के संपर्क में आने से पहले अपने शरीर पर तेल लगा लें क्योंकि यह त्वचा और रंग के बीच एक सुरक्षात्मक कवच बनाता है। आप बादाम या नारियल तेल का उपयोग कर सकते हैं क्योंकि टेक्सचर में मोटे होते हैं। इस इससे नुकसान कम होगा।

रंगों से होने वाले नुकसान से आपकी त्वचा को बचाने के लिए अपने शरीर के सभी खुले क्षेत्रों पर सनस्क्रीन का उपयोग करें। संवेदनशील त्वचा और मुँहासे से ग्रस्त त्वचा वाले लोगों को तेज रंग के साथ नहीं खेलना चाहिए। अगर आप खेलना चाहते हैं, तो प्राकृतिक गैर विषैले रंग का चयन कर सकते हैं।

रंग से खेलने से पहले चेहरे पर तेल मुक्त मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगाएं। सामान्य या कॉम्बिनेशन स्किन वाले लोग अपने चेहरे पर बेबी आयल की एक बूंद के साथ वाटरप्रूफ सनस्क्रीन भी लगा सकते हैं। यह त्वचा की रक्षा करेगा।

होली के बाद -

जितनी जल्दी हो सके त्वचा और बालों से होली के रंगों को हटा दें। जब तक वे गीले हैं, तब तक उन्हें हटा देना उचित है।

सूखे रंगों को उतारना मुश्किल है। यदि ये रंग पहले धोने में नहीं निकलते हैं, तो त्वचा पर गर्म जैतून का तेल और नींबू का रस रगड़ें, एक घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें और फिर नहा लें।

दाग-धब्बों को हटाने के लिए मिट्टी के तेल, पेट्रोल या स्प्रिट का इस्तेमाल न करें क्योंकि यह त्वचा को और शुष्क कर देगा।

रंग द्वारा छोड़े गए दाग को हटाने के लिए ज्यादा न रगड़ें। इससे त्वचा को और नुकसान पहुंचेगा। जब भी आप त्वचा को धोएंगे तब-तब दाग हल्का होता जाएगा।

संवेदनशील त्वचा वाले लोगों के लिए, साबुन का उपयोग करने के बजाए धीरे-धीरे रंग उतारने के लिए क्लींजिंग मिल्क का उपयोग करना सबसे अच्छा है क्योंकि बाद में त्वचा रूखी हो सकती है।

शरीर के लिए, आप एक लूफा के साथ सौम्य बॉडी वॉश का उपयोग कर सकते हैं। स्नान के बाद मॉइस्चराइज़र लगाएं जो त्वचा को शांत करने में मदद करेगा और रंग को और भी हल्का करेगा।

रंग के संपर्क में आने से पहले आप त्वचा और बालों की देखभाल जिस तरह से करते हैं, इसी तरह से अपने हाथों और पैरों का भी ख्याल रखें। होली खेलने से पहले अपने नाखूनों पर लगाया गया पेंट का एक कोट, दोनों उंगलियों और पैर की उंगलियों पर, अपने नाखूनों को रंग से रोकने में मदद करेगा। क्यूटिकल्स पर अतिरिक्त ध्यान दें क्योंकि यह दाग लंबे समय तक रहता है।

जब आप रंग को धो दें, तो हाथ और पैर पर लोशन लगाएं। आप अगले दिन त्वचा को एक्सफोलिएट करने और साथ ही इसे मॉइस्चराइज करने के लिए पेडीक्योर मैनीक्योर करवा सकते हैं।

अतिरिक्त रंग को हटाने के लिए बालों को खूब पानी से रगड़ें। रंग हटाने के लिए माइल्ड शैम्पू के साथ इसका पालन करें। बहुत गर्म पानी के उपयोग से बचें।

यह सुनिश्चित करने के लिए कि बाल रूखे और क्षतिग्रस्त न हो, 10 मिनट के लिए बालों पर हेयर मास्क लगाएं। इसे ठंडे पानी से धो लें और बालों की जड़ों में सीरम लगाएं।

लाल चकत्ते के मामले में त्वचा को शांत करने के लिए लैक्टो कैलामाइन लोशन लगाएं। अगर त्वचा में जलन बढ़ जाती है तो धूप से बचना चाहिए। त्वचा की जलन को शांत करने के लिए आप एक एंटी-एलर्जी टैबलेट ले सकते हैं। यदि यह 24 घंटों के भीतर नहीं ठीक होता है, तो त्वचा विशेषज्ञ से सम्पर्क करें।

होली के एक हफ्ते बाद -

एक बार जब रंग थोड़ा फीका हो जाता है, तो आपको त्वचा को हाइड्रेट और मॉइस्चराइज करने के लिए फेशियल करवाना चाहिए। यह त्वचा पर हुए नुकसान को भरने में मदद करेगा और लुक को वापस लाने में मदद करेगा।

अपने बालों को धोने से पहले सप्ताह में एक बार प्राकृतिक हेयर मास्क का प्रयोग करें। अंडे के साथ एलोवेरा जेल, दही या जैतून का तेल इस्तेमाल किया जा सकता है। एक हेयर स्पा आपको सूखे खुरदरे और घुंघराले बालों को ठीक करने में भी मदद करेगा।