जानें सोने के तरीकों से आपको कैसे हो सकती है स्किन प्रॉब्लम
त्वचा (Skin Care Tips)

जानें सोने के तरीकों से आपको कैसे हो सकती है स्किन प्रॉब्लम

Women Raftaar

एक अच्छी नींद हेल्दी स्किन से जुडी होती है, लेकिन अगर इसका उल्टा हो तो! हमारे सोने के तरीके से आपको त्वचा संबंधी समस्या हो सकती है जैसे मुहांसे, झुर्रियां। जिस तरह से आप सोते हैं वो तरीका आपके लुक और स्किन को प्रभावित करता है। चलिए इस लेख में बताते हैं कि कैसे गलत सोने के तरीके से आपको स्किन प्रॉब्लम्स हो सकती हैं।

तकिए के साथ सोना -

अपनी पीठ के बल सोना हमेशा सोने का एक अच्छा तरीका है। 20-30 डिग्री के कोण को बनाए रखने से शरीर में बेहतर तरल जल निकासी होती है। हालांकि, कई लोग करवट बदलकर या अपने पेट के बल सोना पसंद करते हैं। इससे चेहरा तकिए पर टच होता है, जिससे तकिए पर लगे बैक्टीरिया चेहरे पर लग जाते हैं या चेहरे पर लगी क्रीम या प्रोडक्ट तकिए पर लग जाते हैं। सबसे अच्छा तरीका है कि आप तकिए को अक्सर धोते रहें, इससे रशेस या चकत्तों की समस्या दूर होगी।

पेट के बल लेटने से स्किन कैसे प्रभावित होती है -

कई लोगों को इस तरह से सोना बेहद पसंद है, लेकिन सोने का यह सही तरीका नहीं है। जब हम सोते हैं, तो हमारी त्वचा को सांस की जरूरत होती है। इस पोजीशन में आपका चेहरा पूरी तरह से तकिए में दब जाता है, जिसकी वजह से स्किन फॉलिकल्स में रुकावटें पैदा होती हैं। इससे छिद्र बंद हो जाते हैं, मुहांसे होते हैं झुर्रियां भी पड़ सकती हैं। हम नहीं चाहते कि इस पोजीशन में रक्त परिसंचरण कम हो, इस तरह के दबाव से आंखों के नीचे सूजन आ सकती है। इन सब परेशानियों को नजरअंदाज करने के लिए इस पोजीशन में न सोएं।

साइड में सोने से कैसे प्रभावित होती है स्किन -

यह स्थिति पेट के बल सोने वाली स्थिति के मुकाबले कम प्रभावित करती है। हालांकि, यह भी सही पोजीशन नहीं। जब आप एक तरफ सोते हैं, तो आप अपनी स्किन पर अधिक दबाव डालते हैं। यह चीकबोन को दबा देता है और दबाव की वजह से एक तरफ झुर्रियां भी पड़ सकती हैं। साथ ही, अगर आपने स्किनकेयर प्रोडक्ट लगाया है, तो प्रोडक्ट तकिए पर फैल सकता है।

पीठ के बल सोने से कैसे स्किन होती है प्रभावित -

पीठ के बल सोना एक सही तरीका है! पहली बात चेहरे पर किसी भी तरह का दबाव नहीं पड़ता, इससे चेहरे पर लाइंस नहीं पड़ती और स्किन भी जवान और मुलायम दिखती है। एक तरफ सोने या पेट के बल सोने से, द्रव आपकी आंखों के आसपास इखट्टा नहीं होगा। साथ ही, आपका चेहरा तकिए से टच नहीं होता और तकिए पर लगा तेल, धूल मिट्टी और गंदगी भी चेहरे पर नहीं लगती।