क्या आप भी अपने मुहांसों पर टूथपेस्ट लगाते हैं तो आज ही करना छोड़ दें, जाने क्यों
त्वचा (Skin Care Tips)

क्या आप भी अपने मुहांसों पर टूथपेस्ट लगाते हैं तो आज ही करना छोड़ दें, जाने क्यों

Women Raftaar

जब मुहांसों को ठीक करने की बात आती है, तो आप सभी ने टूथपेस्ट लगाने के बारे में तो सुना ही होगा, जो कि पिम्पल्स को ठीक करने का बेहद आसान तरीका माना जाता है। टूथपेस्ट में बेकिंग सोडा, हाइड्रोजन पेरॉक्साइड, अल्कोहल आदि सामग्रियां पाई जाती है जो मुहांसों को सुखाने का काम करती हैं। हालांकि, कील मुहांसों पर टूथपेस्ट को लगाना एक सुरक्षित उपाय नहीं माना जाता, वो इसलिए:

स्किन इरिटेशन -

पेस्ट को मुंहासों पर लगाना सबसे ज्यादा आजमाया हुआ घरेलू उपचार है। ट्राईक्लोसन सामग्री त्वचा पर मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारती है। यह घटक तुरंत मुहांसों पर काम करता है और आपको तेजी से परिणाम देने में मदद करता है। लेकिन, इस हैक से त्वचा में जलन भी होती है। पेस्ट दांतों के लिए बनाया जाता है, जिसका अर्थ है कि घटक अधिक और कठोर होंगे, इसकी वजह से खुजली और जलन की समस्या होती है।

रूखी त्वचा -

जब उन बड़े छिपे हुए पिंपल्स की बात आती है, तो टूथपेस्ट तुरंत आकार को कम करने में मदद करता है। आप पिंपल के आकार को कम कर सकते हैं, लेकिन इससे आपकी त्वचा बेहद शुष्क हो जाएगी। यदि आपकी त्वचा पर आसानी से मुहांसे निकल आते हैं, तो टूथपेस्ट से आपकी स्किन पर अधिक छाले, इरिटेशन और रूखापन देख सकते हैं।

निशान -

सबसे खराब स्थितियों में, पेस्ट को मुंहासों पर लगाने से भी निशान पड़ सकते हैं। अगर आप टूथपेस्ट ज़िद्दी पिम्पल्स पर लगाते हैं तो इससे आपको जलन की समस्या हो सकती है, इससे धीरे-धीरे आपके मुहांसे सूखेंगे लेकिन एक कठोर रिएक्शन एक गंदा निशान छोड़ सकता है।

सावधान रहें -

अपने मुँहासे के लिए टूथपेस्ट का उपयोग करना हमेशा आपका अंतिम उपाय होना चाहिए! हालांकि, अगर आपको अभी भी ज़रूरत महसूस होती है, तो बिना किसी रंग या वाइटेनर वाला पेस्ट चुनें, क्योंकि ये फॉर्मूले आपकी त्वचा को अधिक परेशान कर सकते हैं और मुहांसों को और भी बदतर बना सकते हैं!