घर पर क्यों पहनकर रखनी चाहिए चप्पल, जानिए कारण

घर पर क्यों पहनकर रखनी चाहिए चप्पल, जानिए कारण
घर पर क्यों पहनकर रखनी चाहिए चप्पल, जानिए कारण

दो कारणों की वजह से कई लोग घर पर चप्पल नहीं पहनते हैं, एक धार्मिक विश्वासों के कारण और दूसरा हाइजीनिक कारणों से। जबकि घर पर चप्पल पहनना या न पहनना यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है। क्या आपने कभी सोचा है कि हमने पहली बार घर पर फ्लिप फ्लॉप पहनना क्यों शुरू किया था? चप्पल पहनने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे। जब आपके स्वास्थ्य की बात आती है तो फ्लैट चप्पलें आपकी मदद कर सकती हैं। चलिए इस लेख में हम आपको कुछ कारण बताते हैं।

आम बीमारी का इलाज -

अक्सर आपको साल में कोल्ड और फ्लू जैसी बीमारी से जूझना पड़ता है। बीमारी से लड़ने के लिए आपको इम्युनिटी स्ट्रांग करने के अलावा कुछ छोटी छोटी गलतियां भी हैं जो इस समस्या को बढ़ावा देती हैं। घर पर चप्पल नहीं पहनने से शरीर की गर्मी पैरों से बाहर निकल सकती है। जैसे-जैसे शरीर अपनी गर्मी खोता रहता है, रक्त संचार कम हो जाता है, जिससे सर्दी और फ्लू जैसे कई सामान्य स्वास्थ्य मुद्दे हो सकते हैं। चप्पल पहनने से आपके पैरों को सुरक्षा मिलती है, जो रक्त प्रवाह को सामान्य रखने में मदद करता है और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बीमारियों से लड़ने की अनुमति देता है।

बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण को रोकता है –

हम सभी सोचते हैं कि हमारे घर का फर्श बिल्कुल साफ है। हालाँकि, फर्श साफ और बेदाग़ दिख सकता है लेकिन इसमें बहुत सारे कीटाणु और बैक्टीरिया होते हैं जिन्हें आप नग्न आँखों से नहीं देख सकते हैं। मोपिंग और वैक्यूम सफाई के बावजूद, आप हानिकारक सूक्ष्मजीवों को पानी, हवा और अन्य वाहक के साथ घर में प्रवेश करने से नहीं रोक सकते। चप्पल पहनने से पैरों से लगने वाली बिमारी से बचने में मदद मिलेगी। इनमें से कुछ बीमारी हैं टोनेल कवक और एथलीट फुट हैं।

शरीर का संतुलन बढ़ाता है -

चप्पल पहनने से छोटे बच्चों और बूढ़ों का शरीर संतुलन बढ़ता है। एक बच्चे के पैर एक निश्चित उम्र तक सपाट नहीं होते हैं और वे चलना सीखते समय अक्सर गिर जाते हैं। अपने बच्चे को चप्पल पहनने से उसे आसानी से चलने में मदद मिलती है। जब वृद्ध लोगों की बात आती है, तो उन्हें चप्पल पहननी चाहिए, जिसमें अच्छे आर्क का सहारा मिलता हो। जैसे-जैसे आप बूढ़े होते हैं चप्पल संतुलन और स्थिरता बढाती है। आरामदायक चप्पल खरीदना सुनिश्चित करें जो आपको उचित सहायता प्रदान करें।

पैरों की सूजन का इलाज करती है -

अनुचित रक्त परिसंचरण से पैरों में सूजन हो सकती है। चप्पल पहनने से गर्मी गर्मी शरीर में बनी रहती है और रक्त परिसंचरण को बढ़ाने में मदद मिलती है। आपको ऐसी चप्पलें चुननी चाहिए जो आपके पैर में पूरी तरह फिट हों।