जानें नमिता ने कैसे किये जल्दी से 28 किलो कम
डाइट एंड वेट लॉस टिप्स (Diet and weight loss tips)

जानें नमिता ने कैसे किये जल्दी से 28 किलो कम

Jaane namita ne kaise kiye jaldi se 28 kilo kam

Women Raftaar

जिन लोगों का वजन बेहद अधिक होता है उन्हें पता है कि अगर मैंने एक बर्गर भी खाया तो मेरा वजन एक किलो तो जरूर बढ़ जाएगा। ऐसे ही कुछ नमिता के साथ भी था वो जरा सा कुछ खाती थी उनका वजन तेजी से बढ़ता था और साथ ही उन्हें थाइरॉइड भी था तो आइये आपको बताते हैं कि जल्दी से कैसे नमिता ने 28 किलो वजन को कम किया।

आपने वजन कम करने का निर्णेय कब लिया?

प्रेगनेंसी के बाद मेरा वजन काफी बढ़ गया था और थाइरॉइड होने की वजह से ये समस्या और बढ़ती जा रही थी। मोटापे की वजह से मैं काफी तनाव में भी रहने लगी थी। मुझे मेरे परिवार वाले टोकने लगे थे, बीमारियां मेरा पीछा नहीं छोड़ रही थी, ये सब देखने के बाद आखिर में मैंने फैसला कर ही लिया कि अब मुझे अपने वजन को कम करना है।

आपका खानपान क्या था ?

नाश्ता - नाश्ते में मैं म्यूसली दूध में डालकर खाती थी और साथ ही इसमें मैं कई फल डालकर भी खाती थी। इसके साथ ही मैं नाश्ते में पोहा और उपमा बनाकर खाती थी, जो कि मुझे ही नहीं जो लोग वजन घटाना चाहते हैं उनके लिए भी ये बेहद फायदेमंद हैं।

दोपहर का खाना - मैं दोपहर में मल्टीग्रेन आटे से बनी चीज़ें और ब्राउन राइस खाने लगी थी। मैं रोजाना एक कटोरी दाल खाती थी और अपनी सब्जियां नारियल तेल व जैतून के तेल में बनाती थी।

रात का खाना - रात का खाना आमतौर पर मेरा हल्का होता था, मैं रोटी कम खाया करती थी। रात में आमतौर पर मेरी प्लेट में अंडे और ग्रिल फिश के साथ सलाद होता था।

चीट डेस में (Cheat days) - जब मैं डाइटिंग नहीं करती थी तो उस दिन कोई भी भरवां पराठा या नॉन वेज सब्जी खाती थी।

आपकी एक्सरसाइज क्या थी?

मैं रोजाना योग, कार्डियो और वेट ट्रेनिंग करती थी। इन व्यायामों से मेरा वजन तेजी से कम हुआ और साथ ही इसकी वजह से मैं फिट भी महसूस करती थी।

कैसे आप हमेशा प्रेरित रही?

जब भी मैं सोचती थी कि अब नहीं हो पाएगा, तब मैं खुद को शीशे में देखने लगती थी। खुद से यहीं बोलती थी कि अपने लक्ष्य के इतने करीब आने के बाद नमिता अब हार नहीं माननी है।

आपने ये कैसे सोचा कि आपको कभी अपने लक्ष्य से भटकना नहीं है?

मैं जब मोटी थी तो मेरे पास कुछ पहले की फोटोज थी उस समय की तस्वीरें देखकर और अब खुद को देखकर मुझे एक ख़ुशी मिलती थी कि मैं अब काफी आगे चुकी हुँ, इस तरह मैं अपने लक्ष्य से भटकती नहीं थी।

जब अधिक वजन था तो ऐसा कौन सा हिस्सा था जो आपके लिए कठिन था?

जब आपका अत्यधिक वजन हो जाता था तो आप एकदम आलसी हो जाते हैं, चलना फिरना मेरा बंद हो गया था। इस वजह से मैं अपने बच्चे के साथ भी नहीं खेल पाती थी और मुझे बेहद बुरा महसूस होता था।

आप खुद को कुछ सालों में किस तरह देखना चाहती हैं?

अब तो मेरा ऐसा हाल हो गया है कि आराम से नफरत होती है। मैं बच्चे के साथ खेलती रहती थी और इस तरह फिट रहती थी और यही गतिविधि मैं आगे भी रखना चाहूंगी जिससे मैं हमेशा फिट रहूं।

जीवनशैली में बदलाव लाने के लिए आप क्या करती थी?

मैं रोजाना नियमित रूप से व्यायाम करती थी. साथ ही मैंने जंक फ़ूड खाना एकदम बंद कर दिया। मैं हमेशा घर का ही स्वस्थ खाना खाती थी।

आपके लिए सबसे दुखद बात कब थी?

थाइरॉइड मेरा काफी बढ़ चूका था, इस वजह से मैं स्ट्रेस में रहने लगी थी और मोटापे के कारण मेरी पर्सनालिटी भी ख़राब हो रही थी।

वजन घटने के बाद इससे क्या सीखा?

वजन कम होने के बाद मेरा आत्मविश्वास पहले से कई ज्यादा बढ़ चुका है। अब मैं अपने लक्ष्य के प्रति और अधिक केंद्रित हुई हूं।