महिलाओं के लिए जरूरी टेस्ट और प्रोसीजर - Mahilaon Ke Liye Jaruri Test Aur Procejar
बीमारी और उपचार (Health conditions and diseases)

महिलाओं के लिए जरूरी टेस्ट और प्रोसीजर - Mahilaon Ke Liye Jaruri Test Aur Procejar

Women Raftaar

स्त्री को अलग जीवन चक्र के दौरान अलग परिवर्तनों से गुजरना पड़ता है। एक छोटी लड़की से टीनएज होने, विवाह होने, माँ बनने और फिर बुढ़ापे की तरफ अग्रसर होने के दौरान कई स्टेज आते हैं जिनमे स्त्री जनांगों से संबंधित कई टेस्ट और प्रोसीजर होते हैं। आइये आपको भी जानकारी देते हैं की कौन कौन से टेस्ट और प्रोसीजर हैं और किसलिए इन्हें किया जाता है।

1- एमनिओसेंटेसिस प्रक्रिया Amniocentesis Procedures

एमनिओसेंटेसिस गर्भावस्था के दौरान भ्रूण के चारों ओर से घेरे एमनियोटिक द्रव का एक छोटा सा नमूना प्राप्त करने के लिए प्रयोग किया जाता है । यह जन्म दोषों के निवारण के विश्लेषण के लिए प्रयोग होता है।

2- स्तन बायोप्सी - Breast Biopsy

स्तन ऊतकों में कैंसर या अन्य असामान्य कोशिकाएं मौजूद हैं या नहीं यह निर्धारित करने के लिए एक विशेष बायोप्सी सुई के साथ सर्जरी की जाती है। स्तन बायोप्सी यही प्रक्रिया है।

3- सरवाइकल बायोप्सी - Cervical Biopsy

एक गर्भाशय ग्रीवा बायोप्सी गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर के परीक्षण करने के लिए तथा गर्भाशय ग्रीवा से ऊतकों को हटाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एक प्रक्रिया है।

4- सिजेरियन डिलिवरी - Cesarean Delivery

सिजेरियन डिलीवरी मां के पेट और गर्भाशय के माध्यम से एक चीरा द्वारा एक बच्चे का शल्य प्रसव है। सामान्य प्रसव न हो पाने की स्थिति या माँ और बच्चे की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही सिजेरियन किया जाता है।

5- कोरियोनिक विलस सैम्पलिंग - Chorionic Villus Sampling or CVS

इसमें गुणसूत्र असामान्यताओं और कुछ अन्य आनुवंशिक समस्याओं के परीक्षण करने के लिए जन्म से पहले प्लेसेंटा से ऊतक का एक नमूना लिया जाता है।

6- कोलोस्कोपि - Colposcopy

गर्भाशय ग्रीवा (गर्भाशय खोलने के लिए) और योनि की जांच करने के लिए, एक आवर्धक लेंस और एक प्रकाश के साथ एक उपकरण का उपयोग किया जाता है।

7- सिस्टोस्कोपी - Cystoscopy

सिस्टोस्कोपी मूत्रवाहिनी के लिए मूत्र पथ, मूत्राशय, मूत्रमार्ग, और खुलने की जांच करने के लिए प्रयोग किया जाता है। मूत्र करने में हो रही दिक्कतों को दूर करने के लिए यह प्रोसीजर अपनाया जाता है।

8- एंडोमेट्रियल एबलेशन - Endometrial Ablation

एंडोमेट्रियल प्रसव के बाद महिलाओं में अत्यधिक या असामान्य रक्तस्त्राव को कम करने के लिए गर्भाशय के अस्तर की पतली परत को हटाने के लिए की जाने वाली एक प्रक्रिया है।

9- एपीसीओटोमी - Apicoectomy

प्रसव के दौरान, योनि में काफी खिंचाव महसूस होता है। एस में बच्चे को आसानी से बिना किसी नुक्सान के बाहर निकालने के लिए एपीसीओटोमी की जाती है।

10- भ्रूण के बाहरी और आंतरिक हार्ट बीट की निगरानी - External and Internal Examination of Fetus

गर्भाशय में भ्रूण की हृदय गति बदलती रहती है। यदि भ्रूण को पर्याप्त ऑक्सीजन ना मिल पा रहा हो तो हृदय गति असामान्य हो सकती है।

11- भ्रूण अल्ट्रासाउंड - Fetus Ultrasound

गर्भाशय में भ्रूण की छवि और स्थिति देखने के लिए किया जाने वाला परिक्षण।

12- हिस्टेरोस्कोप - Hysteroscope

हिस्टेरोस्कोप में एक पतली, रोशन वाली लचीली ट्यूब का उपयोग कर गर्भाशय की ग्रीवा और इंटीरियर का परिक्षण करने की प्रक्रिया।

13 - मैमोग्राम प्रक्रिया - Mamogram Procedures

महिलाओं में स्तन रोग का निदान करने में प्रयोग किया जाता है।

14- पैप परीक्षण - Papanicolaou or Pap Testing

पैप परीक्षण माइक्रोस्कोप द्वारा गर्भाशय ग्रीवा की कोशिकाओं की जांच करने के लिए किया जाने वाला स्क्रीनिंग टेस्ट है।

15- पेल्विक अल्ट्रासाउंड - Pelvic Ultrasound

पेल्विक अल्ट्रासाउंड महिला श्रोणि में अंगों और संरचनाओं की जांच करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

Raftaar
women.raftaar.in