जानें, खून की कमी को कितना खतरनाक माना जाता है
मां का स्वास्थ्य और देखभाल (Mother Care)

जानें, खून की कमी को कितना खतरनाक माना जाता है

Women Raftaar

एनीमिया एक स्वास्थ्य स्थिति है जिसमें हमारा शरीर पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन नहीं कर पाता जिसका कार्य शरीर के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन ले जाना होता है। कई स्वास्थ्य स्थितियों से एनीमिया हो सकता है, लेकिन सभी आयरन की कमी में से, एनीमिया सबसे आम है।

हम सभी जानते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए विटामिन और खनिजों का पर्याप्त सेवन महत्वपूर्ण है। पोषक तत्वों में से किसी एक की कमी हमारे स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है।

मासिक धर्म और गर्भवती महिलाओं में एनीमिया अधिक आम है। यह आपको थका हुआ और कमजोर महसूस करवा सकता है। एनीमिया इसके कारण के आधार पर हल्का या गंभीर, अस्थायी या स्थायी हो सकता है।

हालांकि हम जानते हैं कि आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया सामान्य है लेकिन हम शायद ही इसे गंभीरता से लेते हैं। तब तक जब तक यह अन्य स्थितियों में नहीं बदल नहीं जाता। हम आपको बताएंगे कि यह स्थिति कितनी खतरनाक है और आपको इसकी अनदेखी क्यों नहीं करनी चाहिए।

एनीमिया के कारण –

तीन प्रमुख कारणों से एनीमिया हो सकता है:

· जब आपका शरीर पर्याप्त लाल रक्त कोशिकाएं नहीं बना पाता है।

· अत्यधिक रक्तस्राव के कारण लाल रक्त कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है और

· जब आपका शरीर लाल रक्त कोशिकाओं को खत्म कर देता है।

यह स्थिति कितनी खतरनाक है –

आयरन की मात्रा बढ़ाने या सप्लीमेंट्स लेने से आयरन की कमी को आसानी से ठीक किया जा सकता है। हालांकि, अगर बिना इलाज के छोड़ दिया जाए तो यह अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकता है जैसे:

अनियमित दिल की धड़कन: शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी के कारण, आपके दिल को अधिक रक्त को पंप करने की जरूरत पड़ जाती है। इससे दिल की धड़कन अनियमित हो सकती है और चरम मामलों में, व्यक्ति हार्ट फेलियर या बढ़े हुए दिल से पीड़ित हो सकता है।

गर्भावस्था की जटिलताओं: गर्भवती महिलाओं में आयरन की कमी से बच्चे का समय से पहले जन्म या कम वजन के साथ जन्म हो सकता है।

शिशुओं में देरी से विकास: आयरन की कमी से पीड़ित बच्चों में वृद्धि में देरी हो सकती है और संक्रमण का खतरा अधिक हो सकता है।

आयरन के स्रोत –

आप अपने आयरन का सेवन बढ़ाने के लिए अपने आहार में इन खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं: मीट, बीन्स, कद्दू, स्क्वैश बीज, पत्तेदार हरी सब्जियां, किशमिश, सूखे फल और अंडे।

Raftaar
women.raftaar.in