क्यों होता है सेक्स के बाद योनि में इंफेक्शन?
मां का स्वास्थ्य और देखभाल (Mother Care)

क्यों होता है सेक्स के बाद योनि में इंफेक्शन?

Women Raftaar

सेक्स से जुड़ी अगर किसी एक भी सावधानी में लापरवाही बरती जाए, तो यह स्वास्थ्य के लिए जोखिम भरा हो सकता है। यह योनि में इंफेक्शन के सबसे बड़े कारणों में से भी कोई एक हो सकता है। अक्सर महिलाओं की शिकायत होती है कि सेक्स के दौरान या बाद में उन्हें योनि में दर्द और योनि में इंफेक्शन की समस्या होती है।

यहां तक कि कुछ महिलाओं का यह भी कहना है कि कंडोम के इस्तेमाल के साथ सुरक्षित सेक्स करने के बाद भी, उन्हें योनि में इंफेक्शन की समस्या हुई है। बता दें कि यौन संचारित रोग महिलाओं और पुरुषों दोनों में ही बड़ी तेजी से फैलते हैं। इसलिए, सेक्स से पहले हर महिला को यह जान लेना चाहिए कि सेक्स के कारण उनकी योनि में किस तरह के इंफेक्शन या रोग हो सकते हैं।

सेक्स के बाद योनि में होने वाले इंफेक्शन

बैक्टीरियल वेजिनोसिस

बैक्टीरियल वेजिनोसिस, सेक्स के जरिए योनि में होने वाले इंफेक्शन का सबसे आम कारण हो सकता है। इसे योनि बैक्टीरियोसिस के रूप में भी जाना जाता है। ऐसी महिलाएं, जो प्रसव की उम्र यानी 15 साल से 44 साल की उम्र में होती हैं, उनमें इसके खतरे की संभावना सबसे अधिक होती है। इसके अलावा, सेक्स पार्टनर बदलने से भी इसका खतरा काफी हद तक बढ़ा जाता है। हालांकि, ऐसी महिलाएं, जिन्होंने अभी तक संभोग नहीं किया है, उनमें भी इसके लक्षण देखें जा सकते हैं। लेकिन, यह बहुत ही कम पाया जाता है। इसके अलावा बैक्टीरियल वेजिनोसिस (बीवी) भी यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) के विकास के जोखिम को बढ़ाता है। हालांकि, इसके यौन संचारित संक्रमण नहीं नाता जाता है। यह भी ध्यान रखें कि अगर किसी महिला को बैक्टीरियल वेजिनोसिस की समस्या है, तो वह इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) के सुरक्षित विकल्प नहीं हो सकती है। इसके अलावा, बैक्टीरियल वेजिनोसिस की समस्या पैल्विक सूजन की बीमारी (पीआईडी) के जोखिम को भी बढ़ा सकता है। जिसके कारण योनि के ऊपरी रास्ते में संक्रमण और सूजन हो सकता है। मामला गंभीर होने पर बांझपन जैसी समस्याओं का भी कारण बन सकता है।

बैक्टीरियल वेजिनोसिस के लक्षण क्या हैं?

निम्न लक्षणों से बैक्टीरियल वेजिनोसिस की पहचान की जा सकती हैः

  • योनि में खुजली होना

  • योनि में जलन होना

  • योनि से मछली जैसी गंध आने के साथ ग्रे रंग का चिपचिपा पदार्थ आना

  • पेशाब के दौरान योनि में जलन होना

हालांकि, ऊपर बताए गए बैक्टीरियल वेजिनोसिस के लक्षणों में से अगर कोई एक समस्या है तो आमतौर पर यह सामान्य हो सकती है। लेकिन, अगर एक से अधिक लक्षण दिखाई दें, तो जल्द से जल्द इसके उपचार के लिए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। बैक्टीरियल वेजिनोसिस के उपचार के लिए आमतौर पर डॉक्टर एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल करते हैं।

वजायनल यीस्ट इंफेक्शन

वजायनल यीस्ट इंफेक्शन आमतौर पर यौन संचारित संक्रमण के तहत नहीं आता है। लेकिन, सेक्स के बाद ही योनि में फंगस या किसी भी तरह के इंफेक्शन का खतरा सबसे ज्यादा बढ़ जाता है। हालांकि, वजायनल यीस्ट इंफेक्शन की समस्या सेक्स और साफ-सफाई का विशेष ध्यान न रखने की वजह से हो सकता है। यह बैक्टीरियल वजिनोसिस की तरह ज्यादा जोखिम भरे नहीं होते हैं। घरेलू उपचारों की मदद से ही इसका इलाज किया जा सकता है।

क्या अन्य कारणों से भी वजायनल यीस्ट इंफेक्शन का खतरा हो सकता है?

जैसा की बता चुके हैं कि वजायनल यीस्ट इंफेक्शन का खतरा योनि संभोग के माध्यम से ही बढ़ सकता है। हालांकि, सेक्स के अलावा अन्य कारण भी हैं जिनकी वजह से योनि में इंफेक्शन की समस्या हो सकती है, जिनमें शामिल हैंः

  • तंग या गीले या पसीनेदार अंडरगारमेंट्स पहनना

  • योनि को साफ करने के लिए किसी तरह के कॉस्मेटिक का इस्तेमाल करना

  • योनि के लिए परफ्यूम का इस्तेमाल करना

  • योनि की उचित साफ-सफाई न रखना

  • बर्थ कंट्रोल पिल्स का इस्तेमाल करना

  • एंटीबायोटिक्स दवाओं का सेवन करना

  • कोर्टिकोस्टेरोइड दवा का सेवन करना

  • कमजोर प्रति रक्षा प्रणाली होना

  • हाई ब्लड शुगर की समस्या

  • प्रेग्नेंसी

  • ब्रेस्टफीडिंग।

ओरल सेक्स से भी हो सकता है योनि में इंफेक्शन

कई कपल्स को लगता है कि सिर्फ इंटरकोर्स से ही यौन रोग संक्रमण या योनि में इंजेक्शन का खतरा हो सकता है। लेकिन, ऐसे कई अध्ययनों में इसका दावा किया जा चुका है कि ओरल सेक्स की वजह से भी योनि में इंफेक्शन हो सकता है। क्योंकि, ओरल सेक्स के दौरान आपके साथी मुंह का इस्तेमाल करते हैं, जो कई तरह के बैक्टीरिया या फंगस होने के खतरे का कारण बन सकता है।

बातें जो आपको जरूर जाननी चाहिए

सीडीसी (Centers for Disease Control and Prevention) (CDC) के एक अनुमान के मुताबिक, अमेरिका की लगभग 75 प्रतिशत महिलाएं अपने जीवन में कम से कम एक बार यौन संचारित रोगों या संक्रमण के जोखिम से गुजरती हैं। इनमें से 40 से 45 प्रतिशत महिलाएं दो या इससे अधिक बार योनि में इंफेक्शन की समस्या से गुजरती हैं।

योनि में इंफेक्शन होने के अन्य कारण

  • गीले या पसीने न सोखने वाले अंडरगारमेंट्स पहनना

  • गुप्तांग की साफ-सफाई न करना

  • गुप्तांग या उसके आसपास सुगंधित क्लींजर का इस्तेमाल करना

  • गर्भनिरोधक गोलियां, एंटीबायोटिक्स या कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स का अधिक इस्तेमाल करना

  • हाई ब्ल्ड प्रेशर या डायबिटीज होना

  • प्रेग्नेंसी

  • ब्रेस्टफीडिंग

इस बारे में जब हमने डॉक्टर श्रुति श्रीधर से बात की तो, उन्होंने इसका समाधान देते हुए बताया ''सेक्स के बाद हमेशा आपको यूरिन पास करना चाहिए। इसके अलावा, योनि भाग को सामान्य और साफ पानी से धोना चाहिए। ऐसा करने से सेक्स के बाद वजायनल इंफेक्शन होने का खतरा कम हो जाता है।''

इसके अलावा, कई बार इस्तेमाल किए गए कंडोम की वजह से भी योनि में इंफेक्शन की समस्या देखी जा सकती है। इसलिए, हमेशा अच्छी क्वालिटी और सेहत के लिए भरोसेमंद कंडोम का ही इस्तेमाल करें। संभोग करने से पहले दोनों ही साथी अपने स्वास्थ्य की जांच आवश्यक करवाएं। साथ ही, सेक्स के दौरान और बाद में स्वच्छता का भी विशेष ध्यान रखें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

Original post - क्यों होता है सेक्स के बाद योनि में इंफेक्शन?

Raftaar
women.raftaar.in